।। जय श्री महाकाल ।।

मंगल दोष पूजा

मंगलदोष पूजा

About

क्या होता है अंगारक योग (मङ्गल भात पूजा) ओर उसका निवारण

जन्म कुंडली में जब मंगल असुर प्रकृति वाले राहु केतु के साथ स्थित होता है तो एक विशेष प्रकार का योग “अंगारक” निर्मित होता है,।ज्योतिष में मंगल को क्रोध, वाद विवाद, लड़ाई झगड़ा, हथियार, दुर्घटना, एक्सीडेंट, अग्नि, विद्युत आदि का कारक ग्रह माना गया है तथा राहु को रोग, आकस्मिक घटनाएं, शत्रु षड़यंत्र, नकारात्मक ऊर्जा, तामसिकता, बुरे विचार, छल, और बुरीआदतों का कारक ग्रह माना गया है, इसलिए ज्योतिष में मंगल और राहु के योग को अधिक नकारात्मक और दुष्परिणाम देने वाला योग माना गया है। मंगल और राहु स्वतंत्र रूप से अलग-अलग इतने नाकारात्मक नहीं होते पर जब मंगल और राहु का योग होता है तो इससे मंगल और राहु की नकारात्मक प्रचंडता बहुत बढ़ जाती है। जिस कारण यह योग विध्वंसकारी प्रभाव दिखाता है।मंगल राहु का योग प्राकृतिक और सामाजिक उठापटक की स्थिति तो बनाता ही है पर व्यक्तिगत रूप से भी मंगल -राहु का योग नकारात्मक परिणाम देने वाला ही होता है। यदि जन्मकुंडली में मंगल और राहु एक साथ हो अर्थात कुंडली में मंगल राहु का योग हो तो सर्वप्रथम कुंडली के जिसभाव में यह योग बन रहा हो उस भावको पीड़ित करता है और उस भाव से नियंत्रित होने वाले घटकों में संघर्ष कीस्थिति बनी रहती है। अंगारक योग बहुत खराब होता है इससे व्यक्ति के जीवन में लड़ाई-झगड़े तथा अराजकता फैलाने की प्रवृत्ति बढ़ती है आज मैं आपको 12 भावों में यह योग क्या नुकसान पहुंचाता है, प्रत्येक 12 भावों के उपाय क्या है इसके बारे में विस्तृत रूप से बतलाते है ।

उज्जैन मंगल भात पूजा के लिए सबसे अच्छा है?



KNOW WHY UJJAIN IS BEST PLACE FOR MANGAL BHAT PUJA ?
Origin of Mangal Dev Mangal Dev was born from the drop of sweat of Lord Shankar. A drop of sweat fell on the earth at Bhairavgarh in the Mahakal van of Ujjain. According to ancient Indian scriptures, the place of origin of Mars is Ujjain. Here Bhagwan Mahamangal is famous by the name of Shri Mangalnath Temple and Shri Angareshwar Temple. According to the Puranas, being the birth place of Mangal Griha, Ujjain is best for the peace of Mangal Bhat or Manglik Dosh. Mangal Bhaat Puja eliminates the bad effects of Mangal and blesses a healthy, wealthy and bright married life.